Home Health & Fitness Dengue Cases in Delhi: दिल्ली में इस साल बिगड़ सकते हैं डेंगू...

Dengue Cases in Delhi: दिल्ली में इस साल बिगड़ सकते हैं डेंगू से हालात, जानें डॉक्टरों की चेतावनी और दिल्ली सरकार का प्लान

75
0

दिल्ली में बारिश, बाढ़ और जलजमाव के बाद अब मच्छर जनित बीमारियों का खतरा बढ़ने लगा है. बाढ़, बारिश और जलजमाव ने दिल्ली में डेंगू (Dengue), मलेरिया और चिकनगुनिया के खतरे को और बढ़ा दिया है. डॉक्टरों की मानें तो इस साल अस्पतालों में पिछले महीने की तुलना में जुलाई महीने में डेंगू के मरीज ज्यादा आए हैं. एमसीडी (MCD) ने अपने साप्ताहिक रिपोर्ट में भी माना है कि सिर्फ जुलाई मीहने में ही डेंगू से अब तक 27 लोग संक्रमित हो चुके हैं. एमसीडी के मुताबिक, इस साल डेंगू के 163 मामले दर्ज किए गए हैं. बता दें कि इस साल डेंगू के जो आंकड़े हैं वह पिछले छह वर्षों में इस अवधि तक में सबसे अधिक है. ऐसे में दिल्ली में बाढ़ के बाद डेंगू के खतरे को देखते हुए एमसीडी और दिल्ली सरकार ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने मच्छर जनित बीमारियों के लिए हर अस्पताल में अलग वार्ड बनाने का प्लान तैयार किया है. दिल्ली सरकार के अधीन आने वाले एलएनजेपी अस्पताल में भी अलग से वार्ड बनाने की तैयारी चल रही है. दिल्ली सरकार डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के लिए अगले कुछ दिनों में हर अस्पताल में अलग वार्ड बनाने का ऐलान कर सकती है.

dengue in delhi, flood, waterlogging, Dengue risk factors in delhi, dengue symptoms, severe dengue symtopms, dengue latest news, dengue updates, dengue cases in delhi, dengue update in delhi, how to protect dengue, dengue prevention in hindi, delhi dengue cases in 2023, dengue prevention and control, dengue symptoms in hindi, dengue symptoms and treatment, chikungunya, delhi Government, delhi mcd, mcd hospitals, Malaria, mosquito, mosquitoes, Health Ministry, delhi health department, delhi-ncr news, health ministry, dengue update, दिल्ली में डेंगू के मामलों में इजाफा. दिल्ली में बाढ़ के बाद डेंगू का खतरा, डेंगू की संख्या में उछाल, डेंगू से कैसे करें बचाव, कितने प्रकार का होता है डेंगू, डीएसएस कितना खतरनाक होता है, डेंगू का लार्, एमसीडी, दिल्ली एमसीडी, दिल्ली सरकार, चिकनगुनिया, मलेरिया, दिल्ली-एनसीआर, दिल्ली में डेंगू के कितने मामले

दिल्ली में यमुना का जलस्तर घटने से लोगों को राहत मिली है, लेकिन अब डेंगू का खतरा बढ़ा दिया है. (पीटीआई)

डेंगू के मामले में आ सकती है तेजी
एमसीडी ने अपनी साप्तहिक रिपोर्ट में कहा है कि मच्छरों के प्रजनन स्थलों की संख्या पिछले दो सप्ताह की तुलना में मौजूदा सप्ताह में 8,889 से बढ़कर 12,495 हो गई है. हालांकि, इस साल डेंगू के ज्यादातर मरीज आसानी से ठीक होकर घर भी लौट रहे हैं.

मच्छर काटने के बाद दिखने लगते हैं ये लक्षण
मच्छर के डंक मारने के बाद डेंगू के लक्षण 3, 4 दिन बाद दिखने लगते हैं. इससे अधिक समय भी लग सकता है. इसके बाद पूरे शरीर में दर्द होना शुरू हो जाता है. जुलाई से लेकर अक्टूबर के महीने के बीच इस बीमारी का खतरा अधिक रहता है. डॉक्टरों का कहना है कि एडीज मच्छर 3 फीट से ज्यादा ऊंचाई पर नहीं उड़ पाते हैं. जब किसी शख्स को एडीज मच्छर काटता है तो वह इंसान का खून चूसता है और खून में डेंगू का वायरस छोड़ देता है. अगर वही मच्छर दूसरे व्यक्ति को काटे तो वो भी डेंगू की चपेट में आ जाता है.

dengue in delhi, flood, waterlogging, Dengue risk factors in delhi, dengue symptoms, severe dengue symtopms, dengue latest news, dengue updates, dengue cases in delhi, dengue update in delhi, how to protect dengue, dengue prevention in hindi, delhi dengue cases in 2023, dengue prevention and control, dengue symptoms in hindi, dengue symptoms and treatment, chikungunya, delhi Government, delhi mcd, mcd hospitals, Malaria, mosquito, mosquitoes, Health Ministry, delhi health department, delhi-ncr news, health ministry, dengue update, दिल्ली में डेंगू के मामलों में इजाफा. दिल्ली में बाढ़ के बाद डेंगू का खतरा, डेंगू की संख्या में उछाल, डेंगू से कैसे करें बचाव, कितने प्रकार का होता है डेंगू, डीएसएस कितना खतरनाक होता है, डेंगू का लार्, एमसीडी, दिल्ली एमसीडी, दिल्ली सरकार, चिकनगुनिया, मलेरिया, दिल्ली-एनसीआर, दिल्ली में डेंगू के कितने मामले

अकेले भारत में ही डेंगू वायरस के 2 से 2.5 लाख मामले हर साल सामने आते हैं.

क्या कहते हैं डॉक्टर
नोएडा के प्रकाश अस्पताल में कार्यरत मेडिसिन विभाग के डॉक्टर अभिषेक कुमार
कहते हैं, ‘दिल्ली में बाढ़, बारिश और जलजमाव ने डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के खतरे को और बढ़ा दिया है. मच्छरों के प्रजनन और बढ़ने के लिहाज से यह उपयुक्त समय है. ऐसे में आशंका है कि आने वाले दिनों में दिल्ली में ही नहीं पूरे दिल्ली-एनसीआर में मच्छर जनित बीमारियां जैसे डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया का खतरा बढ़ सकता है. इसके लिए जरूरी है कि मच्छरों के काटने से बचाव करें और साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें.’

ये भी पढ़ें: खुशखबरी: ISBT कश्मीरी गेट से इंटरस्टेट बसों की आवाजाही शुरू, पंजाब-हरियाणा सहित इन राज्यों के लिए बस सेवा हुई बहाल

बता दें कि डेंगू फीवर तीन तरह के होते हैं, जिसमें से दो बुखार बेहद खराब माने जाते हैं. तीन तरह के बुखार जैसे की क्लासिकल डेंगू फीवर, डेंगू हैमरेजिक फीवर (डीएचएफ), डेंगू शॉक सिंड्रोम (डीएसएस). इन तीनों में से सबसे ज्यादा खराब डीएचएफ और डीएसएस होता है. इन दो तरह के डेंगू से ग्रस्त मरीजों को अगर जल्द ही हॉस्पिटल में एडमिट नहीं कराया गया तो उसकी मौत हो सकती है.

टैग: दिल्ली न्यूज़ अलर्ट, डेंगू अलर्ट, दिल्ली में डेंगू, डेंगू का प्रकोप, बाढ़, स्वास्थ्य, जीवन शैली

Source link

Previous articleIND vs WI: पोर्ट ऑफ स्‍पेन विराट कोहली के लिए है स्‍पेशल, बनाना चाहेंगे इसे यादगार
Next articleParliament Monsoon Session Live: संसद का मानसून सत्र आज से, दिल्ली अध्यादेश के मुद्दे पर हंगामे के आसार, मणिपुर पर केंद्र चर्चा के लिए तैयार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here