Home Health & Fitness Yoga Session: कपालभाति और अनुलोम-विलोम से करें दिन की शुरुआत, बीमारियां रहेंगी...

Yoga Session: कपालभाति और अनुलोम-विलोम से करें दिन की शुरुआत, बीमारियां रहेंगी दूर, हर काम में लगेगा मन

41
0

हाइलाइट्स

हार्ट की समस्‍या या पेट की समस्‍या हो तो कपालभाति ना करें.
इन अभ्यासों को पद्मासन या अर्धपद्मासन मुद्रा में बैठकर करें।

सविता यादव के साथ योग सत्र: दिन की शुरुआत योग के साथ करना कई तरह से फायदेमंद होता है. अपनी उम्र और सेहत के हिसाब से सभी को अलग अलग योग और प्राणायाम का सहारा लेना चाहिए. दरअसल, शरीर में बेहतर ऑक्‍सीजन की सप्‍लाई कई सेहत से जुड़ी समस्‍याओं को दूर करने का काम करती है. ऐसे में अगर आप दिन की शुरुआत तरह तरह के प्राणायामों के साथ करें तो कई तरह से फायदा मिल सकता है. हालां‍कि इसे करने से पहले संबंधित सावधानियों के बारे में भी जानना जरूरी है. आज न्यूज़18 हिंदी के यूट्यूब लाइव सेशन में योगा ट्रेनर सविता यादव (Savita Yadav) ने कपालभाति, भस्त्रिका और अनुलोम विलोम करने का सही तरीका बताया.

ध्‍यान करें
मैट पर पद्मासन या किसी भी आसन में बैठें और गहरी सांस लें. कमर गर्दन सीधी रखते हुए आंखों को बंद करें और ध्‍यान लगाते हुए ओम शब्‍द का उच्‍चारण करें. 5 मिनट ध्‍यान करने के बाद स्‍ट्रेचिंग और वॉर्मअप करें. विस्‍तार से देखने के लिए आप इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें.

” isDesktop=’true’ id=’6939483′ >

कपालभाति
कपालभाति करने के लिए पद्मासन या अर्धपद्मासन की मुद्रा में बैठें. कमर गर्दन सीधी रखें. ध्‍यान की मुद्रा बनाएं. आंखों को बंद कर गहरी सांस लें और छोड़ें. अब गहरी सांस लेकर फोर्स के साथ सांस को बाहर की तरफ फेंकने का प्रयास करें. चेहरे पर शांत मुद्रा रहेगी, बॉडी को रिलैक्‍स रखना है. इसका अभ्‍यास आप अपनी सुविधा के अनुसार कम या ज्‍यादा देर तक कर सकते हैं. ध्‍यान रखें कि अभ्‍यास के दौरान शरीर को हिलाना नहीं है, आपका पेट खुद ही अंदर की तरफ जाएगा. हार्ट की समस्‍या या पेट की समस्‍या है तो इसका अभ्‍यास ना करें. पेट साफ होने के बाद ही इसका अभ्‍यास करें.

भस्त्रिका प्राणायाम
भस्त्रिका प्राणायाम का अभ्‍यास भी हार्ट पेशेंट को नहीं करना चाहिए. यह प्राणायाम शरीर में अग्नि तत्‍व को बढ़ाती है. यह अभ्‍यास हमारे नाक के रास्‍ते को क्‍लीन करने का काम करता है. यहां हम मध्‍यम गति से अभ्‍यास करेंगे. इसे करने के लिए सांस को आवाज के साथ लें और छोड़ें. ऐसा आप 1 मिनट तक करें.

इसे भी पढ़ें : कमर दर्द से छुटकारा दिलाएगा यह योगाभ्‍यास, हेल्थ को मिलेंगे कई फायदे

अनुलोम-विलोम
पद्मासन या अर्ध पद्मासन की मुद्रा में कमर गर्दन को सीधा रखते हुए बैठें. ध्‍यान की मुद्रा बनाएं. आंखों बंद रखते हुए अब अंगूठे से दाहिने नाक को बंद करें और बाएं से गहरी सांस लें. 5 सेंकेंड तक होल्‍ड करें और बाएं नाक को बंद कर दाहिने नाक से सांस लें. फिर 5 की गिनती पर होल्‍ड करें और यह प्रक्रिया आप दोहराते रहें. विस्‍तार से देखने के लिए वीडियो लिंक पर क्लिक करें.

टैग: योग के लाभ, स्वास्थ्य, जीवन शैली, योग

Source link

Previous articlePHOTOS: बाप रे! भारत में है कंकालों से भरी झील? रहस्यमयी है हजारों साल का इतिहास, जानें पूरी कहानी
Next article‘हम दोनों के बीच ..’: सूर्यकुमार के साथ तुलना पर पाकिस्‍तान के 360 डिग्री प्‍लेयर की दो टूक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here