Home India सीमा हैदर की कहानी में नया पेंच, अलग-अलग उम्र की नहीं बता...

सीमा हैदर की कहानी में नया पेंच, अलग-अलग उम्र की नहीं बता पाई वजह, अब पाकिस्तान भेजने की चल रही तैयारी

38
0

नई दिल्ली. भारत में अवैध ढंग से घुसी पाकिस्तानी नागरिक सीमा हैदर और उसके प्रेमी सचिन मीणा से यूपी एटीएस (UP ATS) की पूछताछ अब पूरी हो चुकी है. वहीं सूत्रों के मुताबिक सीमा हैदर को वापस से पाकिस्तान डिपोर्ट किया जा सकता है. सूत्रों ने बताया कि एटीएस अब अपनी जांच रिपोर्ट यूपी के गृह विभाग को भेजेगी और फिर वहां से निर्देश मिलने के बाद सीमा हैदर और उसके चारों बच्चों को पाकिस्तान वापस भेजने की तैयारी की जाएगी.

सूत्रों के मुताबिक, सीमा हैदर के खिलाफ अभी तक की जांच में जासूसी के सबूत तो नहीं मिले हैं, लेकिन वह अपने चारों बच्चों के साथ अवैध रूप से नेपाल के रास्ते भारत में दाखिल हुई थी. उसके पास भारत आने के लिए कोई वैध वीजा नहीं था. इसी वजह से जांच एजेंसियां सीमा और उसके चारों बच्चों को वापस से पाकिस्तान भेजने के विकल्प पर विचार कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- ‘4 मोबाइल फोन, 5 पाकिस्तानी पासपोर्ट…’, सीमा हैदर पर कसा शिकंजा, पूछताछ के बाद क्या बोली यूपी ATS

सीमा की सही उम्र को लेकर पसोपेश
हालांकि सूत्रों ने साथ ही बताया कि जांच एजेंसियां सीमा की बताई सारी बातों की पुख्ता तस्दीक कर लेना चाहती हैं. दरअसल सीमा हैदर की सही उम्र का अब तक पता नहीं लग सका है. सीमा ने गुलाम हैदर से वर्ष 2014 में शादी का एफिडेविट बनवाया था, उसमें उसकी उम्र 19 साल दर्ज है. वहीं उसके पास से बरामद पासपोर्ट में उसकी जन्मतिथि वर्ष 2002 की लिखी गई है. ऐसे में अलग-अलग उम्र दर्ज कराने की वजह वह नहीं बता पाई है.

हालांकि सीमा का अवैध रूप से भारत में आना ही उसे पाकिस्तान डिपोर्ट किए जाने की बड़ी वजह मानी जा रही है. ऐसे में अगर वह जासूसी के आरोपों से बरी हो जाती है तो अवैध रूप से आने पर उसे डिपोर्ट किए जाने के पूरे चांस माने जा रहे हैं.

उधर यूपी एटीएस ने भी प्रेस नोट में बताया कि अब तक पूछताछ में जासूसी को लेकर कोई सबूत नहीं मिले हैं, लेकिन भारत में गैरकानूनी रूप से प्रवेश करने के जुर्म में सीमा हैदर और उसके चार बच्चों पर कानूनी कार्रवाई की जा रही है.

टैग: सीमा हैदर, यूपी एटीएस

Source link

Previous articleस्टुअर्ट ब्रॉड ने रचा इतिहास, विश्व के 5 महान खिलाड़ियों में हुए शामिल, इनके अलावा कोई नहीं कर पाया यह कारनामा
Next articleभौगोलिक हालात हमारी मानसिकता और व्यवहार पर डालते हैं असर, क्‍या कहती है जियोसाइकोलॉजी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here