Home India ‘विपक्षी दल जानते हैं वो कमजोर हैं, अकेले हमें नहीं हरा सकते…’,...

‘विपक्षी दल जानते हैं वो कमजोर हैं, अकेले हमें नहीं हरा सकते…’, नितिन गडकरी ने News18 टाउन हॉल में साधा निशाना

33
0

नई दिल्‍ली. केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को सीएनएन-न्‍यूज18 के टाउन हॉल प्रोग्राम के दौरान विपक्षी एकता पर जमकर हमला बोला. उन्‍होंने कहा कि विपक्षी दल एक साथ आ रहे हैं क्‍योंकि वो काफी कमजोर हैं. उन्‍हें इस बात का एहसास है कि वो अकेले भारतीय जनता पार्टी को नहीं हरा सकते हैं. गडकरी ने कहा कि जब एक पार्टी मजबूत हो जाती है तो कमजोर एकजुट हो जाते हैं. जब कोई कमजोर होता है तो साथ रहने की कोशिश करता है. इंदिरा गांधी सरकार के खिलाफ गठबंधन बना, लेकिन फिर भी वह जीतने में कामयाब रही.

नितिन गडकरी ने कहा, ‘राजनीति में 2+2 कभी भी 4 के बराबर नहीं होता. जो काम कांग्रेस 60 साल में नहीं कर पाई, वह पीएम मोदी के नेतृत्व में बीजेपी सरकार ने नौ साल में कर दिखाया. लोग विकास देख रहे हैं और व्यापक जनादेश देंगे.’ उन्‍होंने दिल्‍ली अध्‍यादेश पर आम आदमी पार्टी का समर्थन करने पर कांग्रेस को भी आड़े हाथों लिया. ‘कांग्रेस आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल का विरोध कर रही थी, लेकिन आज वे दिल्ली अध्यादेश पर उनका समर्थन कर रहे हैं. हम भी लोगों को शामिल कर रहे हैं. इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है. सरकार बनाने के लिए जीतना जरूरी है. हर पार्टी अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए रणनीतिक रूप से गठबंधन करती है.’

यह भी पढ़ें:- मुर्गे का खून लगाकर महिला ने बुना रेप का झूठा केस, बिजनेसमैन से ऐंठे 3 करोड़, पुलिस का हैरान करने वाला खुलासा

प्रदर्शन की राजनीति नई सामान्य बात
नितिन गडकरी ने कहा, ‘राजनीति मजबूरियों, सीमाओं और विरोधाभासों का खेल है. जो लोग हमसे जुड़ते हैं वे हमारे जैसे हो जाते हैं. हमारी पार्टी का चरित्र दृढ़ विश्वास की राजनीति है. हम अटल बिहारी वाजपेयी के समय से ऐसा कर रहे हैं. जब भी लोकसभा चुनाव होंगे, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को जनादेश मिलेगा. प्रदर्शन की राजनीति नई सामान्य बात है. नकदी, जाति और अपराधियों की राजनीति खत्म हो गई है.’

यूसीसी पर क्‍या बोले गडकरी?
केंद्रीय मंत्री ने समान नागरिक संहिता (UCC) के मुद्दे पर भी अपनी पार्टी की राय को साफ किया. उन्‍होंने कहा, ‘यूसीसी किसी आस्था के खिलाफ नहीं है. सबके लिए एक कानून होना चाहिए. यह सामाजिक प्रगतिशील सोच है.’

टैग: 2024 लोकसभा चुनाव, समान नागरिक संहिता, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

(टैग्सटूट्रांसलेट)नितिन गडकरी साक्षात्कार(टी)नितिन गडकरी समाचार(टी)विपक्षी बैठक पर नितिन गडकरी(टी)नितिन गडकरी नवीनतम समाचार(टी)नितिन गडकरी साक्षात्कार(टी)नितिन गडकरी सीएनएन न्यूज18 साक्षात्कार(टी)यूसीसी(टी) पर नितिन गडकरी )नितिन गडकरी अरविन केजरीवाल पर (टी)नितिन गडकरी मंत्रालय का काम(टी)नितिन गडकरी रिपोर्ट कार्ड

Source link

Previous articleSL vs PAK: बाबार आजम का नहीं चला जादू, तो 2 धुरंधरों ने पूरी की कमी, मौके पर लगा दिया चौका
Next articleइंडिया की 7 बेहतरीन थ्रिलर्स! सस्पेंस ऐसा कि घूम जाएगा दिमाग, लास्ट सीन तक नहीं हटेंगी नजरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here