Home India Rajasthan Elections 2023: बीजेपी ने भरी चुनावी हुंकार, ‘नहीं सहेगा राजस्थान’ का...

Rajasthan Elections 2023: बीजेपी ने भरी चुनावी हुंकार, ‘नहीं सहेगा राजस्थान’ का किया शंखनाद

36
0

हाइलाइट्स

राजस्थान बीजेपी का बड़ा अभियान
बीजेपी का गहलोत सरकार पर हमला
विधानसभा चुनाव की बनाई रणनीति

सौरभ गृहस्थी/ महेश दाधीच.

जयपुर. राजस्थान विधानसभा चुनाव (Rajasthan Assembly Election) से पहले बीजेपी लगातार आक्रामक रुख अख्तियार करती जा रही है. इसके तहत राजस्थान में आज से ‘नहीं सहेगा राजस्थान’ अभियान  का आगाज किया गया. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी ने जयपुर में इसकी शुरुआत की. उसके बाद नड्डा ने राजस्थान बीजेपी के तमाम बड़े पदाधिकारियों और विधायकों की बैठक ली. बैठक में नड्डा ने जीत का मूलमंत्र देते हुए कहा कि सभी को साथ मिलकर चलना है. उन्होंने एससी-एसटी, यूथ और महिला वर्ग पर फोकस करने के निर्देश भी दिए.

‘नहीं सहेगा राजस्थान’ अभियान के आगाज के लिए जयपुर आए पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा पूरी तरह से अशोक गहलोत सरकार पर हमलावर रहे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस मां, बेटे और बेटी की पार्टी है. नड्डा ने आरोप लगाया कि दिल्ली को पैसा भेजना और गरीबों का पैसा मारना इस सरकार का काम है. भ्रष्टाचार मामले में गहलोत सरकार ने रिकॉर्ड बनाया है. बीजेपी इस अभियान के तहत दो करोड़ लोगों तक पहुंचेगी.

गहलोत सरकार पर हमलावर रहे नड्डा
उन्होंने कहा अलवर में मजहबी सिख बच्ची के साथ गैंगरेप हुआ. खाजूवाला में रक्षक ही भक्षक बन गया है. राजस्थान में हर रोज 18-19 रेप केस सामने आ रहे हैं. उन्होंने गहलोत सरकार का फेल कार्ड जारी किया. नड्डा ने गहलोत सरकार पर भ्रष्टाचार और कानून व्यवस्थाओं के मुद्दों को लेकर जमकर हमला. उन्होंने गहलोत सरकार के वादों का जिक्र करते हुए कहा कि राहुल गांधी कर्जमाफी की बात करते थे. जबकि 19 हजार किसानो की जमीन कुर्क हो गई है. वीरांगनाओं को नौकरी देने की बात कही थी लेकिन नहीं दी गई. जयपुर के बीलवा के चंदन वन में आयोजित इस अभियान में पार्टी के सभी बड़े नेता और पदाधिकारियों ने शिरकत की.

विधानसभा चुनाव की रणनीति को लेकर दिए निर्देश
अभियान के आगाज के बाद नड्डा ने बीजेपी पदाधिकारियों और विधायकों की बैठक ली. बैठक में एकजुटता पर जोर दिया गया. इस दौरान आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति को लेकर निर्देश दिए गए. उन्होंने कहा संगठन में काम करने के इच्छुक नेता संगठन पर ही फोकस करें. जो चुनाव लड़ना चाहते हैं वे चुनाव पर ही ध्यान केंद्रित करें. इससे पहले अभियान के शुभारंभ के मौके पर पूर्व सीएम वसुंधरा राजे और प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी ने भी पार्टी पदाधिकारियों को संबोधित किया.

टैग: जयपुर समाचार, जेपी नियुक्त, Rajasthan bjp, राजस्थान समाचार, राजस्थान की राजनीति

Source link

Previous articleइन 5 भारतीयों ने टेस्ट में जड़े हैं सबसे ज्यादा दोहरे शतक, विराट समेत 4 संन्यास लेने वाले खिलाड़ी भी लिस्ट में
Next articleAAP को मिला कांग्रेस का समर्थन, नीतीश कुमार, ममता बनर्जी ने निभाई बड़ी भूमिका!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here