Home World ऑस्ट्रेलिया में खालिस्तानियों का आतंक! अलगाववादियों ने भारतीय छात्र पर रॉड से...

ऑस्ट्रेलिया में खालिस्तानियों का आतंक! अलगाववादियों ने भारतीय छात्र पर रॉड से हमला किया, लगाए ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ के नारे

38
0

सिडनी: खालिस्तानी अलगाववादियों के जत्थे ने शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में एक भारतीय छात्र पर हमला किया. ऑस्ट्रेलिया टुडे की एक रिपोर्ट से पता चला है कि पश्चिमी सिडनी के उपनगर वेस्टमीड में एक छात्र पर हमला किया गया. छात्र ने समाचार आउटलेट में अपनी पहचान स्वप्निल सिंह के रूप में बताई है. हालांकि उसने अपनी जान के डर से अपना सही नाम नहीं बताया.

स्वप्निल ने ऑस्ट्रेलिया टुडे को बताया कि वह एक अंतरराष्ट्रीय छात्र है. जब वह काम पर जा रहा था तब खालिस्तानी अलगाववादियों ने उस पर लोहे की छड़ों से हमला किया. उसके चेहरे के बायीं तरफ रॉड से वार किया गया. वह काम के सिलसिले से कार में बैठा था, तभी उसने अचानक देखा कि चार-पांच खालिस्तानी अलगाववादियों का जत्था उनकी कार की ओर आ रहा है. उन्होंने कार का बाईं ओर का दरवाजा खोला और उस पर वार करना शुरू कर दिया. जब उन्होंने उसे पीटा, तो ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए और भीड़ में से कुछ लोगों ने घटना की रिकॉर्डिंग शुरू कर दी.

ऑस्ट्रेलिया टुडे से स्वप्निल ने कहा, “मैं ड्राइवर का काम करता हूं और जहां मैं रहता हूं वहां से मेरा वाहन सिर्फ 50 मीटर की दूरी पर खड़ा था. जैसे ही मैं अपनी ड्राइविंग सीट पर बैठा, ये खालिस्तान समर्थक अचानक आ गए. उनमें से एक ने मेरे वाहन का बायीं ओर का दरवाजा खोला और मेरी बायीं आंख के नीचे मेरे गाल की हड्डी पर लोहे की रॉड से हमला कर दिया. उनमें से दो अपने फोन पर हमले की रिकॉर्डिंग कर रहे थे, जबकि 4-5 ने मुझे हर तरफ से मारा.

हमले के बाद आस-पड़ोस के लोगों ने न्यू साउथ वेल्स (एनएसडब्ल्यू) पुलिस को घटना की सूचना दी.  पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और पैरामेडिक्स को बुलाया जो स्वप्निल को वेस्टमीड अस्पताल ले गए, उसके सिर, पैर और बांह पर गंभीर चोटें आई थीं. रिपोर्ट के मुताबिक स्वप्निल अपने हाथ की सर्जरी कराएंगे क्योंकि उनके हाथ की कोहनी फट गई है.

ये भी पढ़ें- समुद्र किनारे मिला जलपरी का कंकाल! अजीबोगरीब जीव की हड्डियां देख लोगों में खौफ, इंसानों जैसी है खोपड़ी!

पररामट्टा के संघीय संसद सदस्य एंड्रयू चार्लटन ने हमले की निंदा की. उन्होंने कहा, ‘हमारे स्थानीय समुदाय में उग्रवाद या किसी भी प्रकार की हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है. हमारे समुदाय में लोगों को सुरक्षित रहना चाहिए. मैंने इस घटना के संबंध में संबंधित अधिकारियों से संपर्क किया है और जैसे ही स्थिति सामने आएगी, उस पर नजर रखूंगा.’

टैग: ऑस्ट्रेलिया, Khalistani

Source link

Previous articleपहली फिल्‍म में हुआ भयानक हादसा, मिलीं बद्दुआएं, विलेन का चौपट हो गया करियर, सालों काम के ल‍िए तरसा
Next articleएक्टिंग के लिए छोड़ी 50 लाख की नौकरी, ऑडिशन देने मीलों चले पैदल, अब टीवी, फिल्में, ओटीटी पर मचा रहे धमाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here