Home Health & Fitness बदलते मौसम ने किया बीमार, सबसे ज्यादा वायरल फीवर के मामले, ऐसे...

बदलते मौसम ने किया बीमार, सबसे ज्यादा वायरल फीवर के मामले, ऐसे रखें सेहत का ख्याल

54
0

पवन सिंह कुंवर/हल्द्वानी. इन दिनों उत्तराखंड में मॉनसून का मौसम है. तापमान में अचानक उतार-चढ़ाव होने से वायरल फीवर, सर्दी-जुकाम और डायरिया पीड़ित मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है. हल्द्वानी स्थित सोबन सिंह जीना बेस अस्पताल और सुशीला तिवारी राजकीय अस्पताल में वायरल फीवर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. बेस अस्पताल में प्रतिदिन ओपीडी 400 से 500 तक पहुंच रही है, जिसमें 300 के करीब वायरल फीवर के मरीज हैं. वहीं, सुशीला तिवारी अस्पताल में भी रोज 800 से 1000 तक ओपीडी होती हैं, जिसमें 300 से 350 मरीज वायरल फीवर के आ रहे हैं.

बेस अस्पताल के चिकित्सक डॉ. जितेंद्र भट्ट ने कहा कि बदलते मौसम में लोगों को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए. फलों को धोने के बाद ही खाएं. बासी खाना और खुली चीजों के खान-पान से परहेज करें. साथ ही, इस मौसम में मामूली से बुखार को भी नजरअंदाज नहीं करें.

वायरल फीवर के लक्षण

उन्होंने बताया कि बदन में तेज दर्द, गले में खराश और दर्द, त्वचा पर हल्के धब्बे पड़ना, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द, कमजोरी महसूस होना, सिर दर्द होने के साथ तेज बुखार, खांसी की शिकायत लक्षण वायरल फीवर से जुड़े हैं. वायरल बुखार आम तौर पर साधारण बुखार की तरह होता है. इसलिए इस मौसम में इसका तुरंत इलाज करवाना जरूरी है. डॉक्टर की सलाह पर ही दवाई लेनी चाहिए. पीड़ित से हाथ मिलाने, छींकने, नजदीक में रहने से भी वायरल का प्रकोप होने की आशंका रहती है, इसलिए वायरल बुखार होने पर ध्यान देने की जरूरत है.

किनको वायरल फीवर का ज्यादा खतरा

डॉ. जितेंद्र भट्ट ने आगे कहा कि गर्भवती महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों और इम्यूनोसप्रेसिव स्थिति वाले व्यक्तियों (जैसे एचआईवी/एड्स, कीमोथेरेपी या स्टेरॉयड प्राप्त करना) में वायरल बुखार का खतरा ज्यादा होता है. रोगियों के संपर्क में ज्यादा आने के कारण मेडिकल स्टाफ को इन्फ्लूएंजा वायरस संक्रमण होने का ज्यादा खतरा होता है. इसका खतरा विशेष  कर कमजोर व्यक्ति में ज्यादा होता है.

टैग: मौसम में बदलाव, Haldwani news, स्वास्थ्य समाचार, स्थानीय18, Uttarakhand news, वायरल बुखार

(टैग्सटूट्रांसलेट) इस मौसम में कैसे सुरक्षित रहें (टी) बीमारी से कैसे सुरक्षित रहें (टी) बीमार पड़ने से कैसे सुरक्षित रहें (टी) बदलते मौसम में बीमारी से कैसे सुरक्षित रहें (टी) मौसम परिवर्तन (टी) वायरल बुखार(टी)हल्द्वानी बेस हॉस्पिटल(टी)हल्द्वानी सुशीला तिवारी हॉस्पिटल(टी)हल्द्वानी समाचार(टी)हल्द्वानी समाचार(टी)उत्तराखंड समाचार(टी)उत्तराखंड समाचार(टी)मौसम परिवर्तन(टी)वायरल फीवर(टी)वायरल बुखार रोगी

Source link

Previous articleAshes: ‘विकेट मत फेंकिए, Bazball नहीं, प्रॉपर क्रिकेट चाहिए’, ज्‍योफ बायकॉट की इंग्‍लैंड टीम से दो टूक
Next articleअब ग्लैमरस नहीं रही दलजीत कौर की लाइफ! दूसरी शादी के बाद करना पड़ रहा स्ट्रगल, केन्या से भारत लौटीं एक्ट्रेस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here