Home Health & Fitness सावन में टैटू बनवाने का बढ़ जाता है क्रेज, जान लें 5...

सावन में टैटू बनवाने का बढ़ जाता है क्रेज, जान लें 5 बड़े नुकसान भी, खुद करें बचाव वरना बिगड़ सकती है सेहत

44
0

हाइलाइट्स

सावन में अन्य दिनों की तुलना में टैटू बनवाने का क्रेज अधिक बढ़ जाता है.
इस दौरान लोग आस्था से जुड़े टैटू बनवाते हैं, जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ता है.

टैटू बनवाने के नुकसान: शरीर पर टैटू बनवाने का चलन अब एक फैशन सा हो गया है. बड़ी संख्या में लोगों के शरीर पर टैटू देखे जा सकते हैं. पश्चिम देशों में तो टैटू बनवाने को लेकर जैसे होड़ सी मच गई है. बीते कुछ वर्षों से भारत में भी इसका चलन बहुत तेजी से बढ़ा हैं. वैसे तो यहां लोग टैटू को हर समय बनवाते रहते हैं, लेकिन सावन में इसका क्रेज और अधिक बढ़ जाता है. इस दौरान आस्था से जुड़े टैटू ज्यादातर लोग बनवाते दिखाई देते हैं. लेकिन क्या आप टैटू बनवाने के नुकसान (Tattoo Banvane ke Nuksan) जानते हैं. एक्सपर्ट के मुताबिक, इससे व्यक्ति के संक्रमित होने का खतरा रहता है. ये आगे चलकर आपके सामने कई और भी परेशानियों को खड़ा कर सकता है. आइए जानते हैं टैटू बनवाने से होने वाले नुकसान के बारे में-

टैटू बनवाने से होने वाली 5 बड़ी बीमारियां

एचआईवी: हेल्थलाइन की खबर के मुताबिक, टैटू बनवाते समय कुछ सावधानियां बरतना बेहद जरूरी है, क्योंकि एक छोटी से लापरवाही आपको जीवन भर के लिए कष्ट दे सकती है. टैटू बनवाने से व्यक्ति के एचआईवी संक्रमित होने का खतरा रहता है और गत वर्षों में ऐसा हुआ भी है. इसलिए बेहतर होगा कि टैटू बनवाने से बचें. यदि आप टैटू बनवाना ही चाहते हैं तो टैटू बनाने वाली सुई के इस्तेमाल पर नजर जरूर रखें.

स्किन कैंसर: शरीर पर टैटू बनवाने की वजह से स्किन कैंसर का भी खतरा हो सकता है. बेशक आज तक अभी ये बात साबित ना हुई हो, लेकिन टैटू की इंक में मौजूद कुछ हानिकारक तत्व कैंसर का भी कारण बन सकते हैं. ऐसा इसलिए भी क्योंकि काली इंक में बेंजो पाइरीन का लेवल अधिक होता है. इसके चलते ये तत्व घातक कैंसरकारी हो सकता है.

खून से फैलनी वाली बीमारियां: शरीर पर टैटू बनवाने से खून से फैलने वाली बीमारियों के भी बढ़ने का खतरा है. इसकी एक बड़ी वजह सुईयों को आपस में शेयर करना भी हो सकती है. इसके लिए बेहतर है कि टैटू बनवाते समय साफ-सफाई, सुईयों और रंगों, टैटू बनाने वाले व्यक्ति ने ग्लब्स पहने है या नहीं इन सभी चीजों को ध्यान में रखें. बता दें कि, एक बार से अधिक सुई का इस्तेमाल संक्रमण के खतरे को बढ़ावा देने लिए काफी है.

ये भी पढ़ें: घुटनों पर चढ़ गई है चर्बी? बिलकुल ना हों परेशान, 5 आसान टिप्स की लें मदद, पहले जैसे हो जाएंगे हेल्दी और मजबूत

एलर्जिक रिएक्शन: टैटू की इंक किसी भी व्यक्ति में एलर्जिक रिएक्शन का भी कारण बन सकती है. इसके चलते आप सालों बाद तक इस परेशानी का शिकार हो सकते हैं. इस तरह की परेशानी होने पर टैटू वाली जगह पर रैशेज से लेकर छपाकियां सी महसूस होने लगती है. इसलिए बेहतर है कि शरीर पर टैटू आदि बनवाने से बचें.

ये भी पढ़ें: Sawan Vrat Diet Tips: सावन में रख रहे हैं व्रत? तो 6 चीजों का जरूर करें सेवन, बॉडी को मिलेगी इन्स्टेंट एनर्जी

ये परेशानियां भी हो सकती हैं टैटू की वजह

शरीर बनवाया गया टैटू आपको कई तरह से परेशान करने के लिए काफी है. इसके लिए बेहतर है, जागरूक रहें-सजगता बरतें. टैटू से स्टैफाइलोकॉकी संक्रमण जैसी स्किन समस्या हो सकती है, जिसमें स्किन में पाए जाने वाले बैक्टीरिया के कारण संक्रमण होने का खतरा हो सकता है. ये संक्रमण एक से दूसरे व्यक्ति में भी फैल सकता है. इसके लक्षणों में फोड़े और फफोलों से पानी आना शामिल है. इसके अलावा टैटू वाली जगह पर खुजली और सूजन हो सकती है. वहीं, एक्सपर्ट के मुताबिक, डायबिटीज के रोगियों को टैटू बनवाने से बचना चाहिए. ऐसा करने से आप घाव में संक्रमण होने के खतरे से बचे रहेंगे.

टैग: स्वास्थ्य समाचार, स्वास्थ्य सुझाव, जीवन शैली

Source link

Previous articleसलमान खान के फ्लॉप करियर को बचाएंगी 6 फिल्में, पुराने दोस्त और भाई बनेंगे सहारा, लगा करोड़ों दांव!
Next articleराजेश खन्ना की वसीयत सुन जब चौंकी नहीं थीं डिंपल, नहीं दी फूटी-कौड़ी, इन्हें सौंप दी थी करोड़ों की संपत्ति

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here