Home World रूस में ‘तख्तापलट’ की कोशिश के कुछ दिनों बाद जेलेंस्की का बड़ा...

रूस में ‘तख्तापलट’ की कोशिश के कुछ दिनों बाद जेलेंस्की का बड़ा दावा, बोले- यूक्रेन ने वैगनर के 21000 सैनिकों को मार डाला

41
0

हाइलाइट्स

रूस ‘तख्तापलट’ की कोशिश के कुछ दिनों बाद जेलेंस्की ने बड़ा दावा किया है.
जेलेंस्की ने दावा किया है कि युद्ध के मैदान में यूक्रेन ने 21,000 वैगनर भाड़े के सैनिकों को मार डाला है.
जेलेंस्की ने कहा है कि प्रिगोझिन के विद्रोह ने युद्ध के मैदान पर रूसी शक्ति को बहुत प्रभावित किया है.

कीव: वैगनर समूह (Wagner Group) के प्रमुख द्वारा रूस में शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ विद्रोह शुरू करने के बाद व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) को रूसी राष्ट्रपति के रूप में सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक का सामना करना पड़ा. यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की (Volodymyr Zelensky) ने शनिवार को दावा किया कि यूक्रेन ने युद्ध में अब तक कम से कम 21,000 वैगनर भाड़े के सैनिकों को मार डाला है और अन्य 80,000 को घायल कर दिया है.

CNN की रिपोर्ट के अनुसार एक स्पेनिश मीडिया के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बोलते हुए जेलेंस्की ने कहा कि ‘निजी सैन्य कंपनी को भारी नुकसान हुआ है, खासकर पूर्वी यूक्रेन में.’ वैगनर भाड़े के सैनिकों को ‘ज्यादातर अपराधी जिनके पास खोने के लिए कुछ नहीं था’ कहते हुए, यूक्रेनी राष्ट्रपति ने कहा कि लड़ाके ‘रूसी सेना के प्रेरित कर्मचारी’ थे.

पढ़ें- स्पेन और EU का जेलेंस्की के लिए उमड़ा प्रेम, तो रूस ने यूक्रेन पर किए ताबड़तोड़ हमले, 3 की मौत व 17 जख्मी

जेलेंस्की ने कहा कि ‘वैगनर प्रमुख येवगेनी प्रिगोझिन के विद्रोह ने युद्ध के मैदान पर रूसी शक्ति को बहुत प्रभावित किया है. यह यूक्रेन के जवाबी हमले के लिए फायदेमंद हो सकता है. हमें दुश्मन को अपनी जमीन से बाहर धकेलने के लिए इस स्थिति का फायदा उठाने की जरूरत है.’ उन्होंने यह भी कहा कि वह जवाबी कार्रवाई में जल्दबाजी नहीं करेंगे क्योंकि वह मानव जीवन को महत्व देते हैं.

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें युद्ध के बीच अपनी जान का डर है. जेलेंस्की ने कहा कि ‘यह पुतिन के लिए अधिक खतरनाक है.’ उन्होंने कहा कि ‘यह केवल रूस में है कि वे मुझे मारना चाहते हैं, जबकि पूरी दुनिया उन्हें मारना चाहती है.’ मालूम हो कि 29 जून को वैगनर समूह के प्रमुख ने पुतिन के खिलाफ विद्रोह शुरू कर दिया और दावा किया कि यह ‘अपने समूह को रक्षा मंत्रालय की कमान के तहत रखने के आदेश के बाद बचाने के लिए’ था. इसके बाद, पुतिन ने वैगनर के सेनानियों को तीन विकल्प दिए – रूसी रक्षा मंत्रालय के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर करें, नागरिक जीवन में लौटें या बेलारूस में निर्वासन में चले जाएं.

टैग: रूस, यूक्रेन युद्ध, व्लादिमीर पुतिन, वलोडिमिर ज़ेलेंस्की

Source link

Previous articleकभी अक्षय कुमार, तो कभी सलमान खान ने किया रिप्लेस, हाथ से निकले प्रोजेक्ट, अरशद वारसी ने कह दी बड़ी बात!
Next articleरिलीज से पहले ही शाहरुख खान को लगा बड़ा झटका, जवान फिल्म के एक्शन सीन हुए लीक, सोशल मीडिया पर हैं वायरल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here