Home Health & Fitness खराब मेंटल हेल्थ से फर्टिलिटी हो सकती है बर्बाद, इन 5 बातों...

खराब मेंटल हेल्थ से फर्टिलिटी हो सकती है बर्बाद, इन 5 बातों का रखें ध्यान, पेरेंट्स बनने का सपना होगा पूरा

31
0

हाइलाइट्स

अत्यधिक तनाव और एंजाइटी इनफर्टिलिटी की वजह बन सकता है.
बेहतर लाइफस्टाइल और हेल्दी डाइट से फर्टिलिटी बूस्ट हो सकती है.

मानसिक स्वास्थ्य प्रजनन क्षमता को कैसे प्रभावित करता है: वर्तमान समय में लोगों की लाइफस्टाइल काफी तनाव भरी हो गई है. सभी उम्र के लोगों पर इसका काफी असर देखने को मिल रहा है. भागदौड़ भरी जिंदगी से मेंटल हेल्थ बुरी तरह प्रभावित हो रही है. मानसिक स्वास्थ्य का असर ओवरऑल हेल्थ पर पड़ता है. आपको जानकर हैरानी होगी कि खराब मेंटल हेल्थ से कम उम्र में ही लोगों की फर्टिलिटी कम हो रही है. फर्टिलिटी कम होने से लोगों का पेरेंट्स बनने का सपना टूट सकता है. बड़ी तादाद में लोग फर्टिलिटी कमजोर होने की वजह से निसंतानता से जूझ रहे हैं. आज फर्टिलिटी एक्सपर्ट से जानेंगे कि मेंटल हेल्थ से फर्टिलिटी पर क्या असर होता है और किस तरह लोग इस समस्या से निजात पा सकते हैं.

नई दिल्ली के लाजपत नगर स्थित अपोलो फर्टिलिटी की सीनियर कंसल्टेंट डॉ. राम्या मिश्रा कहती हैं कि मॉडर्न वर्ल्ड की भागदौड़ ने महिला और पुरुष दोनों की फर्टिलिटी और रिप्रोडक्टिव हेल्थ को बुरी तरह प्रभावित किया है. इसकी वजह से लोग कम उम्र में ही परेशानियों का सामना कर रहे हैं. मेंटल हेल्थ फर्टिलिटी को बेहतर बनाए रखने के लिए जरूरी फैक्टर है. अत्यधिक तनाव, स्ट्रेस, एंजाइटी और डिप्रेशन से मानसिक स्वास्थ्य खराब होता है, जिसका काफी असर लोगों की फर्टिलिटी पर देखने को मिलता है. चिंता वाली बात यह है जो लोग इनफर्टिलिटी का इलाज कराने आते हैं, उनमें से बड़ी तादाद में लोग मेंटल प्रॉब्लम्स का सामना कर रहे होते हैं. ऐसे में जरूरी है मेंटल हेल्थ का खयाल रखा जाए, ताकि इनफर्टिलिटी की समस्या पैदा न हो.

डॉ. राम्या के अनुसार वर्तमान समय में मेंटल प्रॉब्लम फर्टिलिटी को बुरी तरह प्रभावित कर रही हैं. बड़ी तादाद में लोग मानसिक परेशानियों से जूझ रहे हैं, जिसका सीधा असर उनकी रिप्रोडक्टिव हेल्थ पर भी देखने को मिल रहा है. खराब मेंटल हेल्थ की वजह से महिलाएं प्रेग्नेंसी कंसीव नहीं कर पातीं, वहीं पुरुषों का स्पर्म काउंट और स्पर्म क्वालिटी लगातार गिरती जा रही है. मानसिक समस्याओं के अलावा खराब लाइफस्टाइल, अनहेल्दी खान-पान समेत कई गलत आदतें फर्टिलिटी को बर्बाद कर रही हैं. सभी को फर्टिलिटी को लेकर सावधानी बरतने की जरूरत है, वरना उनका माता-पिता बनने के सपने में मुश्किल आ सकती है. जो लोग मेंटल प्रॉब्लम्स का सामना कर रहे हैं, उन्हें साइकेट्रिस्ट से कंसल्ट कर लेना चाहिए.

यह भी पढ़ें- क्या तंबाकू खाने से दांतों की बीमारियां हो जाती हैं दूर? आप तो नहीं सोचते ऐसा, डेंटिस्ट से जानें हकीकत

5 तरीकों से बूस्ट करें फर्टिलिटी

– हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं, अच्छी डाइट लें
– नियमित रूप से एक्सरसाइज जरूर करें
– तनाव, एंजाइटी, डिप्रेशन को मैनेज करें
– पर्याप्त मात्रा में नींद लें व हेल्दी डाइट लें
– स्मोकिंग, एल्कोहल से जल्द दूरी बना लें

यह भी पढ़ें- क्या बारिश में मौसम में दही खाना चाहिए? आयुर्वेदिक डॉक्टर ने बताई हैरान करने वाली बात, कभी न करें यह गलती

टैग: स्वास्थ्य, जीवन शैली, पुरुष प्रजनन क्षमता, मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता, ट्रेंडिंग न्यूज़

(टैग्सटूट्रांसलेट)मानसिक स्वास्थ्य और प्रजनन क्षमता(टी)मानसिक स्वास्थ्य प्रजनन क्षमता को कैसे प्रभावित करता है(टी)बांझपन के मनोवैज्ञानिक प्रभाव(टी)क्या मानसिक तनाव बांझपन का कारण बन सकता है(टी)आप मानसिक स्वास्थ्य और बांझपन से कैसे निपटते हैं(टी)मानसिक स्वास्थ्य कारण बन सकता है बांझपन(टी)क्या अवसाद आपको बांझ बना सकता है(टी)कौन से मनोवैज्ञानिक कारक बांझपन का कारण बनते हैं(टी)तनाव कैसे बांझपन का कारण बनता है(टी)बांझपन के कारण(टी)तनाव और बांझपन के बीच संबंध(टी)बांझपन को कैसे रोकें(टी) बांझपन निवारण

Source link

Previous articleखाना खाने के बाद क्यों दी जाती है सौंफ मिश्री? सिर्फ माउथ फ्रेशनर का नहीं करता काम, ये है मुख्य वैज्ञानिक कारण
Next articleरोजाना पिएं इस हरी घास की चाय, आंतों में जमीं गंदगी की करेगा बाहर, पेट को रखे साफ, सेहत को देगा कई फायदे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here