Home Health & Fitness क्या तंबाकू खाने से दांतों की बीमारियां हो जाती हैं दूर? आप...

क्या तंबाकू खाने से दांतों की बीमारियां हो जाती हैं दूर? आप तो नहीं सोचते ऐसा, डेंटिस्ट से जानें हकीकत

44
0

हाइलाइट्स

तंबाकू का ज्यादा सेवन करने से मसूड़ों की गंभीर बीमारियां हो सकती हैं.
तंबाकू खाने से दांतों को नुकसान होता है और परमानेंट दाग पड़ जाते हैं.

क्या तंबाकू चबाना दांतों के लिए हानिकारक है: तंबाकू खाने वाले तमाम लोग मानते हैं कि इससे उनके दांतों की सेहत अच्छी रहती है. यह गलतफहमी कई लोगों के दिमाग में होती है और वे तंबाकू का सेवन करते हैं. वैसे तो हम सभी यह जानते हैं तंबाकू सेहत के लिए बेहद खतरनाक होती है और इससे कई तरह के कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है. ऐसे में तंबाकू दांतों के लिए फायदेमंद कैसे हो सकती है? यह सवाल अधिकतर लोगों के जेहन में आता है. अगर आप भी उन लोगों में से हैं, जो तंबाकू को दांतों की हेल्थ के लिए अच्छा मानते हैं, तो आपको डेंटिस्ट से इसकी हकीकत जरूर जान लेनी चाहिए. इससे आपकी सभी गलतफहमियां दूर हो जाएंगी और दांतों को हेल्दी रखने के टिप्स भी मिल जाएंगे.

दिल्ली के पीतमपुरा स्थित डॉ. गुलाटी डेंटल क्लीनिक के दंत रोग विशेषज्ञ वैभव गुलाटी के मुताबिक तंबाकू किसी भी तरह से दांतों के लिए फायदेमंद नहीं होती है. तंबाकू खाने से दांतों को गंभीर नुकसान होता है और ओरल कैंसर का खतरा बढ़ जाता है. जो लोग तंबाकू को फायदेमंद समझते हैं, वे पूरी तरह गलत हैं और तंबाकू खाकर दांतों की हेल्थ को बर्बाद कर रहे हैं. तंबाकू खाने से मसूड़ों की बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है. यह हमारी इम्यूनिटी को कमजोर कर देती है, जिससे मसूड़ों के अंदर बैक्टीरिया पनपने का जोखिम बढ़ जाता है. इम्यूनिटी कमजोर होने से ओरल हेल्थ को काफी नुकसान होता है. किसी भी उम्र के लोगों को तंबाकू नहीं खानी चाहिए, वरना दांत डैमेज होकर टूट सकते हैं.

तंबाकू दांतों पर कैसे डालती है असर?

डॉ. वैभव गुलाटी कहते हैं तंबाकू में निकोटिन और टार होता है, जो हमारे दांतों की सबसे ऊपरी परत को डैमेज कर देता है. इस परत को एनेमल कहा जाता है. यह परत डैमेज होने से दांतों का रंग पीला, लाल या काला हो जाता है. तंबाकू खाने से दांतों पर परमानेंट दाग हो जाते हैं. इससे मसूड़े अत्यधिक सेंसिटिव हो जाते हैं. ऐसे में जब आप नमक, मिर्च वाला खाना खाएंगे, तो आपको परेशानी होगी. इसे गम सेंसिटिविटी कहा जाता है. तंबाकू खाने से मसूड़ों में बैक्टीरिया फैलने और कई बीमारियां होने का खतरा ज्यादा हो जाता है. मसूड़ों की बीमारियां होने पर दांत कमजोर हो जाते हैं और कम उम्र में ही हिलने लगते हैं. तंबाकू खाने का सबसे बड़ा खतरा ओरल कैंसर होता है. तंबाकू ओवरऑल हेल्थ के लिए भी खतरनाक होती है.

यह भी पढ़ें- मसूड़ों से खून निकलना किस बीमारी का संकेत? कैसे पाएं इस मुसीबत से छुटकारा, डेंटिस्ट ने बताया सही तरीका

दांत घिसने का भी रहता है खतरा

तंबाकू के लगातार सेवन से दांत घिस जाते हैं और सेंसिटिव हो जाते हैं. ऐसी कंडीशन में किसी भी तरह की ओरल डिजीज से रिकवर करना भी काफी मुश्किल हो जाता है. तंबाकू खाने और स्मोकिंग करने से मसूड़े काले होने लगते हैं, जिसे हाइपर पिगमेंटेशन कहा जाता है. कुल मिलाकर यह ओरल हेल्थ के लिए बेहद नुकसानदायक साबित होती है. तंबाकू का सेवन करने से हर तरह से नुकसान होता है. दांतों की समस्याओं से जूझ रहे लोगों को तंबाकू से विशेष दूरी बना लेनी चाहिए, वरना उनकी परेशानी बढ़ सकती है. मसूड़ों और दांतों को हेल्दी रखने के लिए तंबाकू से दूरी बनाना बहुत जरूरी है.

यह भी पढ़ें- कम उम्र में आपके दांत भी हो रहे कमजोर, ये हो सकती हैं बड़ी वजह, वक्त रहते करें यह काम, वरना जिंदगीभर पछताएंगे

टैग: स्वास्थ्य, जीवन शैली, ट्रेंडिंग न्यूज़

(टैग्सटूट्रांसलेट)तंबाकू और मौखिक स्वास्थ्य(टी)तंबाकू और मुंह का कैंसर(टी)तंबाकू दांतों को नुकसान पहुंचाता है(टी)तंबाकू चबाने से दांत खराब होते हैं(टी)क्या तंबाकू आपके दांतों को नुकसान पहुंचाता है(टी)क्या तंबाकू आपके दांतों के लिए हानिकारक है(टी)तंबाकू का कारण बन सकता है दांतों में सड़न (टी) क्या तंबाकू आपके दांतों को खराब कर सकता है (टी) क्या तंबाकू चबाने से आपके दांत खराब हो सकते हैं (टी) क्या तंबाकू से दांतों में दर्द हो सकता है (टी) तंबाकू के हानिकारक प्रभाव (टी) तंबाकू के दुष्प्रभाव (टी) तम्बाकू खाने के नुक्सान

Source link

Previous articleये शौक पड़ रहा भारी, दे रहा कैंसर, भारत में हर साल 13 लाख से ज्‍यादा मौतें
Next articleखाना खाने के बाद क्यों दी जाती है सौंफ मिश्री? सिर्फ माउथ फ्रेशनर का नहीं करता काम, ये है मुख्य वैज्ञानिक कारण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here