Home World कभी था देश का हीरो… अब है युद्ध अपराध का आरोपी, बेगुनाहों...

कभी था देश का हीरो… अब है युद्ध अपराध का आरोपी, बेगुनाहों को मारने वाला, अदालत ने मानहानि का दावा ठुकराया

32
0

सिडनी: ऑस्ट्रेलिया के सबसे सम्मानित, विक्टोरिया क्रॉस से नवाजे गए युद्ध के नायक बेन रॉबर्ट स्मिथ पर गैरकानूनी तरीके से बंदियों को मारने और अफगानिस्तान में युद्ध अपराध के आरोप लगाए गए हैं. बेन ने आरोपों के खिलाफ मीडिया पर मानहानि का मामला दर्ज किया था. न्यायाधीश ने फैसला सुनाते हुए बेन के इस दावे को खारिज कर दिया है कि मीडिया ने उसकी मानहानि की है.

फेडरल अदालत के न्यायाधीश एंथोनी बेसांको ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि रॉबर्ट स्मिथ जो पूर्व विशेष वायु सेवा रेजीमेंट कॉरपोरल और अब एक मीडिया कंपनी में एक्जिक्यूटिव हैं, उन पर 2018 में प्रकाशित एक लेख में कई तरह के युद्ध अपराध करने का इल्जाम लगाया गया था, जो काफी हद तक सही है.

एक कैदी की गोली मारकर हत्या की
उन पर लगाये गए आरोप में यह भी शामिल था कि रॉबर्ट स्मिथ जो अफगानिस्तान युद्ध में वीरता पुरस्कार से नवाजे गए थे, 2009 में उन्होंने एक कैदी को जिसका एक पैर नकली (प्रोस्थेटिक पैर) था उसकी पीछे से मशीनगन से गोली मारकर हत्या कर दी थी. यही नहीं उन्होंने कैदी के प्रोस्थेटिक पैर को इनाम के तौर पर बीयर पीने के मग के तौर पर रख लिया था. उन पर यह भी इल्जाम था कि 2012 में उन्होंने एक हथकड़ी से बंधे हुए निहत्थे किसान को बुरी तरह लातों से पीटा था, फिर एसएएस में उनके साथी ने उस किसान को गोली मार दी थी.

रॉबर्ट स्मिथ ने मीडिया पर किया मानहानि का दावा
रॉबर्ट की प्रतिष्ठा पर जब प्रश्न उठने लगे तो उन्होंने अपने ऊपर लगाए गए सभी आरोपों को खारिज करते हुए, तीनों अखबार जिनमें यह लेख छपे थे, सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड, द एज और केनबरा टाइम्स पर मानहानि का मुकदमा दर्ज किया. वहीं अखबारों ने भी किसी तरह के समझौते से इनकार करते हुए मुकदमा लड़ने का फैसला लिया.

ये भी पढ़ें– Explainer: तुर्की में अब तक कैसे कायम है एर्दोग़ान का दबदबा, देश के भविष्य के लिए इसके क्या मायने हैं?

2021 में इस मुकदमे की सुनवाई शुरू हुई. जिसमें कई गवाह और सबूत अदालत के सामने रखे गए. अखबारों की ओर से जिस गांव में लोग मारे गए थे वहां के लोगों ने और बेन की टीम के एक सैनिक ने भी गवाही दी. सैनिक ने दावा किया कि किसान को लात मारने वाले बेन रॉबर्ट स्मिथ ही थे.

फैसला आने के बाद क्या
अदालत के दावे को खारिज किए जाने के बाद बेन के वकील ऑर्थर मोजेज ने फेडरल अदालत की पूर्ण पीठ में अपील दायर करने के लिए 42 दिनों का वक्त मांगा है. वहीं रॉबर्ट स्मिथ की कानूनी लागत, अरबपति कैरी स्टोक्स जो सेवन वेस्ट मीडिया के कार्यकारी अध्यक्ष है उन्होंने वहन की है. आपको बता दें कि बेन इसी मीडिया हाउस में कार्यरत हैं.

” isDesktop=’true’ id=’6381739′ >

रॉबर्ट अकेले नहीं और भी हैं युद्ध अपराधी
रॉबर्ट स्मिथ उन कई ऑस्ट्रेलियाई सैनिकों में से एक हैं जिन पर अफगानिस्तान में युद्ध अपराध करने के आरोपों की ऑस्ट्रेलियाई फेडरल पुलिस जांच कर रही है. अफगानिस्तान में एक कथित अवैध हत्या के लिए पहला आपराधिक आरोप का मामला मार्च में बनाया गया था. पूर्व एसएएस सैनिक ओलिवर शुल्ज पर 2012 में उरुजगन प्रांत में गेंहू के खेत में एक अफगान की गोली मारकर हत्या करने का आरोप लगा था.

टैग: अफ़ग़ानिस्तान, ऑस्ट्रेलिया समाचार, कैदियों

(टैग्सटूट्रांसलेट)ऑस्ट्रेलिया(टी)ऑस्ट्रेलिया समाचार(टी)युद्ध अनुभवी(टी)युद्ध अपराध(टी)अफगानिस्तान(टी)कैदी(टी)विक्टोरिया क्रॉस प्राप्तकर्ता बेन रॉबर्ट्स स्मिथ

Source link

Previous articleNorth Korea: नॉर्थ कोरिया के सैटेलाइट लॉन्च की अमेरिका ने की आलोचना, किम जोंग उन की बहन ने साधा निशाना
Next articleनोबेल पुरस्कार से सम्मानित पाब्लो नेरुदा की चुनिंदा प्रेम कविताएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here