Home Film Review REVIEW: ‘मूविंग इन विद मलाइका’ एक अधकचरा प्रयास है ‘कीपिंग अप विद...

REVIEW: ‘मूविंग इन विद मलाइका’ एक अधकचरा प्रयास है ‘कीपिंग अप विद द कार्दशियंस’ जैसा कुछ बनाने का

40
0

2007 में ई यानी एंटरटेनमेंट केबल नेटवर्क पर एक रियलिटी शो शुरू हुआ था “कीपिंग अप विद द कार्दशियंस” जिसमें सोशल मीडिया से स्टार बनी कार्डाशियन बहनों की निजी जिंदगी का किस्सा दिखाया जाता था. अब तक इसके 20 सीजन और करीब 250 हैं. निहायत ही अजीब से कॉन्सेप्ट पर बने इस शो को बहुत गालियां पड़ती हैं, लेकिन बिग बॉस की तरह इसे देखने वाले बहुत हैं. सेलिब्रिटीज की निजी जिंदगी पर कई अच्छे कार्यक्रम बनते आये हैं और सफल भी हुए हैं क्योंकि इनकी निजी जिंदगी में झांकने का आसुरी सुख हमें बहुत पसंद आता है. पहले एक कार्यक्रम आता था “जीना इसी का नाम है” फिर अनुपम खेर का प्रोग्राम आता था फिर हर घर कुछ कहता है विनय पाठक के साथ. कॉफ़ी विद करण भी कुछ ऐसा ही शो था जहां सेलिब्रिटीज की निजी जिंदगी में थोड़ा बहुत झांकने को मिल जाता था. इसी कड़ी में डिज्नी+ हॉटस्टार पर अब आया है एक नया शो, जो करीब 16 एपिसोड लम्बे पहले सीजन के साथ एंट्री ले रहा है- मूविंग इन विद मलाइका. इसके अभी तक 5 एपिसोड दिखाए जा चुके हैं.

मलाइका अरोड़ा को हम सभी जानते हैं. 24-25 साल पहले उन्होंने शाहरुख खान के साथ मणि रत्नम की फिल्म ‘दिल से’ में चलती ट्रैन के ऊपर एक अत्यंत ही मादक नुत्य प्रस्तुत किया था- ‘छइयां छइयां’. इसके बाद वो फैशन शोज में, छोटे छोटे रोल में, आइटम नंबर्स में और अरबाज खान की पत्नी के रूप में नज़र आने लगी. कम उम्र में शादी होने की वजह से जैसे जैसे आप में परिपक्वता आती जाती है, आप परिस्थितयों में बंधा हुआ महसूस करने लगते हैं. मलाइका के साथ यही हुआ और फिर उन्होंने और अरबाज़ ने अलग होने का फैसला कर लिया. इसी दौरान उनकी नज़दीकियां बढ़ीं फिल्म प्रोड्यूसर बोने कपूर के बेटे अभिनेता अर्जुन कपूर से. हालांकि दोनों ने अभी शादी नहीं की है लेकिन दोनों ने काफी समय तक एक दूसरे को छुप छुप के डेट करने के बाद, अपने रिश्ते को जनता के सामने रख दिया है.

अब मलाइका की निजी जिंदगी में गिनी चुनी घटनाएं हैं जिनके बारे में जानने के लिए किसी की दिलचस्पी हो सकती है. एक उनका स्ट्रगल, दूसरी अरबाज़ के साथ शादी-बच्चे-तलाक, अर्जुन से प्रेम और हालिया एक्सीडेंट जिसमें वो मरते मरते बचीं. इसके अलावा पैपराजी दिनभर उनके पीछे धूमते ही रहते हैं और उनकी लगभग पूरी दिनचर्या को कैप्चर कर के सोशल मीडिया पर फेंकते रहते हैं. सबसे ज़्यादा उनकी जिम से निकलते हुए वाली वीडियोज हैं, या फिर कहीं अर्जुन कपूर के साथ डिनर करती हुई तस्वीरें हैं और फिर अपनी सहेलियों के साथ विदेशों में अत्यंत छोटे छोटे कपड़ों में वे घूमती हुई नज़र आती हैं. उर्फी जावेद, तैमूर अली खान के बाद अगर किसी की जिंदगी को सोशल मीडिया पर उंडेला गया है तो वो है मलाइका अरोड़ा.

मलाइका अरोड़ा ने पता नहीं किस घड़ी में ‘मूविंग इन विद मलाइका’ करने के लिए हां की थी. शो निहायत ही बकवास है, रद्दी है और बहुत ही ओछे स्तर की रिसर्च की वजह से कोई कहानी भी नहीं है. हुसैन दलाल और अब्बास दलाल ने मिलकर इस शो को लिखा है और ऐसा लगता ही नहीं कि उन्होंने मलाइका को समझने की कोई कोशिश की है. सतही स्क्रिप्ट है. मलाइका का अभिनय भी ऐसा नहीं है कि उसकी कोई तारीफ की जाये. पहले ही एपिसोड में उनकी पुराणी दोस्त फरहा खान से उनकी बातचीत से ज़्यादा नक़ली कुछ नहीं लगता. वहीं मलाइका की सहेली नेहा धूपिया के साथ उनकी बातचीत किसी कोण से दो सहेलियों की बातचीत नहीं लगती. इस सीरीज में सब कुछ या तो नाटकीय है या पूरी तरह से फ्लॉप.

मलाइका के साथियों से बातचीत भी अजीब लगती है. फराह खान हो या अर्जुन कपूर. यहां तक कि मलाइका के बेटे अरहान का वीडियो मैसेज भी बहुत ही नक़ली और स्क्रिप्ट किया हुआ लगता है. एक अच्छे रियलिटी शो में सबको पता होता है कि शो स्क्रिप्टेड है लेकिन फिर भी वो नज़र नहीं आना चाहिए. मलाइका क अपने लीयते इस तरह का शो क्यों चुनना पड़ा ये तो वो ही जाने लेकिन निर्देशक हुज़ैमा का ये निर्देशकीय प्रयास बकवास लगा. एक भी एपिसोड बांध पाने में कामयाब नहीं होता क्योंकि फोकस कहानी या घटना पर न होकर मलाइका पर रखा गया है. डीओपी श्रीनिवास रामय्याह ने रियलिटी शो के वो सभी एलिमेंट जिसमें बायतचीत का फोकस रखना होता है बड़े ही विचित्र तरीके से फिल्माए हैं. ब्रेकिंग द फोर्थ वाल यानी जब कलाकार सीधे दर्शकों से मुखातिब होता है, इतने खराब लगता है कि न होता तो शायद ज़्यादा अच्छा होता.

कुल जमा ये शायद पहला और आखिरी सीजन होगा मूविंग इन विद मलाइका का. जिस तरह का कॉन्टेंट इसमें रखा गया है उसको देख के तो लगता है कि पूरे 16 एपिसोड होते होते दर्शक ही नहीं कलाकार भी इस से बोर हो चुके होंगे. समय की नितांत बर्बादी है ये शो. इसे पूरी तरह से इग्नोर कीजिये.

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
स्क्रिनप्ल :
डायरेक्शन :
संगीत :

टैग: मलायका अरोड़ा

(टैग्सटूट्रांसलेट)मलाइका के साथ आगे बढ़ना(टी)मलाइका के साथ आगे बढ़ना समीक्षा(टी)कार्दशियनों के साथ बने रहना(टी)मलाइका अरोड़ा(टी)मलाइका अरोड़ा ओटीटी(टी)मलाइका अरोड़ा समाचार

Source link

Previous articleGovinda Naam Mera Movie Review: फिल्म राइटिंग और एडिटिंग टेबल पर बनती है, सबूत है गोविंदा मेरा नाम
Next articleDetail Review: जाकिर खान का ‘तथास्तु’, हंसाते-हंसाते आपको रुला देगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here